कोटपूतली उपखण्ड क्षेत्र में मंदिरों में मूर्तियां खंडित किए जाने को लेकर थाने में मामला दर्ज

न्यूज़ चक्र, कोटपुतली। कोटपूतली उपखण्ड क्षेत्र के मंदिरों में अज्ञात असामाजिक तत्त्वों द्वारा रात्रि के समय में देवी-देवताओं की मूर्तियों से छेड़छाड़ मूर्तियों को खंडित के जाने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। जिससे क्षेत्रवासियों  में आक्रोश व गुस्से का माहौल है। निरंतर हो रही इन घटनाओं से क्षेत्र की कानून व्यवस्था केेेे भंग होने का भी  खतरा है।

उल्लेखनीय है कि विगत 10 जुलाई की रात्रि को उपखण्ड क्षेत्र के ग्राम भांकरी में अज्ञात असामाजिक तत्त्वों द्वारा श्री हनुमान मंदिर में बजरंग बली की मूर्ति के साथ छेड़छाड़ करते हुए मूर्ति को खण्डित कर दिया गया था। जिसके विरोध में बड़ी संख्या में हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों व भाजपा कार्यकर्ताओं ने भाजयुमो जिलाध्यक्ष गौरव यादव की अगुवाई में तहसीलदार सीमा खेतान को एसडीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर घटना के विरोध में आक्रोश व्यक्त करते हुए घटना के जल्द खुलासे व दोषियों को शीघ्र से शीघ्र गिरफ्तार कर कड़ी कानूनी कार्यवाही की माँग की थी।

आपको बता दें कि अब निकटवर्ती ग्राम पंचायत भलोजी बसई की साबी नदी स्थित दादुका नर्सरी के पास शिव मंदिर में भगवान शिव परिवार की सभी मूर्तियों को अज्ञात असामाजिक तत्त्वों द्वारा धार्मिक भावनाओं को भड़काने के उद्देश्य से खंडित किये जाने का मामला सामने आया है। घटना को लेकर स्थानीय सरपंच सुरेश यादव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों, हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों व भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोटपूतली थाने पहुँचकर घटना के सम्बंध में थानाधिकारी जहीर अब्बास के समक्ष अपना विरोध जताते हुए लिखित में शिकायत देकर मामला दर्ज करवाया। साथ जल्द से जल्द दोषियों को गिरफ़्तार किये जाने की माँग भी की। इस पर थानाधिकारी अब्बास ने मामला दर्ज करते हुए दोषियों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वासन भी दिया। इस दौरान हिन्दू क्रांति दल के जिलाध्यक्ष एड. राजेन्द्र रहीसा, भाजयुमो जिला मंत्री नरेंद्र सिंह कैरोड़ी, कैरोड़ी सरपंच प्रतिनिधि कल्लू राम यादव, गजराज सिंह चैयरमैन राजनोता, एड. महेश मीणा, विकास सिंह, नरेश रैला, पिंटू राजनोता, देशराज डोलिवाला समेत अन्य मौजूद थे। बहरहाल पुलिस ने इस सम्बन्ध में मामला तो दर्ज कर लिया है लेकिन इस तरह की घटनाएं अचानक से क्षेत्र में घटित होना समझ से परे है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *