लहर नहीं, सुनामी थी… जयपुर ग्रामीण से भाजपा के राजवर्धन जीते, प्रतिद्वंदी कांग्रेस की कृष्णा पूनिया को छोड़ सबकी जमानत जप्त

न्यूज़ चक्र, कोटपूतली। सुबह जैसे ही चुनाव के रुझान आने लगे तो बीजेपी व सहयोगी बढ़त में चलने लगे। लोगों को लगा कि मोदी लहर बरकरार है, लेकिन जैसे ही यह आंकड़ा 300 पार होने लगा तो लोगों की जबान पर आ गया कि लहर नहीं सुनामी है। राजस्थान सहित देश के कई राज्यों में कांग्रेस का खाता तक नहीं खुल पाया।

चुनाव नतीजों से पूर्व राजस्थान में जयपुर ग्रामीण को हॉट सीट के रूप में देखा जा रहा था। कांग्रेस ने खिलाड़ी की टक्कर में खिलाड़ी उतारा‌, और जातिगत समीकरणों के आधार पर सीट निकालने का गणित बिठाया। लेकिन योग दिवस से पूर्व ही राजस्थान में योग का योग बिगड़ गया। विधानसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस लोकसभा चुनाव में धराशाई हो गई। जयपुर ग्रामीण सीट पर भाजपा के राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने दोबारा जीत हासिल कर ली है, और प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णा पूनिया को छोड़कर बाकी सभी प्रत्याशियों की जमानत जप्त हो गई। जयपुर ग्रामीण सीट पर कुल 8 प्रत्याशी थे।

1 thought on “लहर नहीं, सुनामी थी… जयपुर ग्रामीण से भाजपा के राजवर्धन जीते, प्रतिद्वंदी कांग्रेस की कृष्णा पूनिया को छोड़ सबकी जमानत जप्त”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *