सोशल मीडिया, युवा और जिम्मेदारियां…

….सच यह है कि सोशल मीडिया का माध्यम आज भी पूरी तरह से विश्वास करने योग्य नहीं है।

नमस्कार दोस्तों, आज का आलेख मैंने युवाओं पर केंद्रित करते हुए लिखा है।दोस्तों, किसी भी देश को बनाने के लिए उस देश का युवा वर्ग मुख्य भूमिका निभाता है या यूं कहें कि किसी भी देश का भविष्य उस देश के युवाओं के द्वारा ही सुंदर बनता है…और फिर हमारा भारत देश तो युवाओं का ही देश है।
स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि युवा राष्ट्र की वास्तविक शक्ति है। लेकिन आज का भारतीय युवा कहीं ना कहीं स्वार्थी हो गया है, आज जरूरत है युवाओं को अपनी जिम्मेदारियां समझने की, मसलन…वोट डालना, देश को स्वच्छ रखना, टैक्स भरना, घूस लेना न देना आदि को समझना होगा। एक अच्छा नागरिक वही है, जो खुद भी जिम्मेदार बने और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। 
दोस्तों, आज का युवा घर बैठे ही सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी आवाज बुलंद करना चाहता है, यह तरीका अच्छा हो सकता है, लेकिन सच यह है कि सोशल मीडिया का माध्यम आज भी पूरी तरह से विश्वास करने योग्य नहीं है। इसलिए युवाओं को चाहिए कि वह धरातल पर अपनी बात रखें, उचित मंच का उपयोग करें या राजनीति का हिस्सा बने।
हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी युवा शक्ति को सबसे बड़ा मानते हैं। वह युवाओं को देश की राजनीति में आने के लिए प्रेरित करते हैं। अब समय आ गया है देश का युवा अपनी जिम्मेदारी समझे। देश में बदलाव के लिए देश से प्रेम करें। देश की तरक्की के बारे में सोचें और देश की राजनीति में रुचि दिखाएं। 
हमारे देश के सूचना एवं प्रसारण मंत्री व जयपुर ग्रामीण से सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौर, जो कि वर्ष 2004 में ओलंपिक में रजत पदक विजेता रहे, आज बहुत से युवाओं के आदर्श बन गए हैं। युवाओं को इनसे प्रेरणा लेनी होगी कि कैसे भारतीय सेना और देश को गौरवान्वित करने के बाद किस तरह से अब राजनीति के माध्यम से सामाजिक दायित्वों को पूरा कर रहे हैं।
…तो दोस्तों आपसे फिर मुलाकात होगी। अगर आपको यह आलेख पसंद आया हो तो इसे लाईक करें, अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिखें, और इसे अधिक से अधिक शेयर करें। धन्यवाद।
http://bllogvani.blogspot.com/

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *