सीखने का जज्बा न तो आज कम है और ना हीं उस समय, बस हममें सीखने की ललक व जज्बा होना चाहिए

नमस्कार दोस्तों, ब्लॉगवाणी पर आपका स्वागत है। मैं हूं आपकी दोस्त शालू वर्मा। आज हम बात करेंगे शिक्षा यानी सीख की। सीख अच्छी या बुरी कैसी भी हो सकती है बस हमारा नजरिया सही होना चाहिए। एक ही कार्य के प्रति अलग-अलग लोगों का अलग अलग नजरिया होता है बस हमें उस नजरिए के द्वारा […]

सोशल मीडिया, युवा और जिम्मेदारियां…

….सच यह है कि सोशल मीडिया का माध्यम आज भी पूरी तरह से विश्वास करने योग्य नहीं है। नमस्कार दोस्तों, आज का आलेख मैंने युवाओं पर केंद्रित करते हुए लिखा है।दोस्तों, किसी भी देश को बनाने के लिए उस देश का युवा वर्ग मुख्य भूमिका निभाता है या यूं कहें कि किसी भी देश का […]