आलेख- आधुनिक नर्सिंग की जन्मदात्री ‘दी लेडी विद द लैंप’

नोट- आलेख में प्रकाशित लेखक के निजी विचार हैं। राजेश कुमार, नर्सिंग आफिसर राजकीय बीडीएम अस्पताल, कोटपूतली नर्सिंग को सम्मानजनक पेशा बनाने का जो श्रेय जाता है, वह फ्लोरेंस नाइटेंगल को ही जाता है। आइए आज उनको याद करते हुए उनके जीवन पर कुछ प्रकाश डालते हुए उन्हें जानने की कोशिश करते हैं। जन्म – […]

धर्म और कर्म की परिभाषा बदली जा रही है। ‘अर्थ’ ने प्रत्येक शब्द और भाव का ‘अर्थ’ बदल दिया है !

लेखक – विकास वर्मा, संपादक, न्यूज चक्र समाज के वर्गों का वर्गीकरण बदल चुका है। धर्म और कर्म की परिभाषा भी बदली जा रही है। ‘अर्थ’ ने प्रत्येक शब्द और भाव का ‘अर्थ’ बदल दिया है। इसलिए ऐसी तस्वीरें, देश की आजादी के 72 साल बाद भी देखना, सहन करना और फिर मौन धारण करना […]

15 रूपये लेने हैं तो बोल…

ऑफिस से निकल कर गोपाल जी ने बाईक को स्टार्ट किया ही था कि उन्हें याद आया, पत्नी ने कहा था, 1 किलो अमरूद लेते आना। तभी उन्हें सड़क किनारे बड़े और ताजा अमरूद बेचते हुए एक बीमार सी दिखने वाली बुढ़िया दिख गयी। वैसे तो वह फल हमेशा “राम आसरे फ्रूट भण्डार” से ही […]

आइये वर्ष 2020 का स्वागत करें और कुछ नया सीखें. सीखिए रसोई से जुड़ी खास बातें

Happy New Year 2020. Best wishes for every New Day 2020.  नये साल का पहला दिन… नया साल एक नई शुरूआत को दर्शाता है और हमेशा आगे बढ़ने की सीख देता है। पुराने साल में हमने जो भी किया, सीखा, सफल या असफल हुए उससे सीख लेकर, एक नई उम्मीद के साथ आगे बढ़ना चाहिए। […]