सेहत का ख्याल रखिए, मिलावटखोर काम पर हैं… चंदवाजी पुलिस ने पकड़ी 2000 किलो सिंथेटिक पनीर से भरी दो पिकअप

न्यूज़ चक्र, कोटपूतली। जी हां शादी समारोह का सीजन है, अपनी सेहत का ख्याल रखिए। … क्योंकि मिलावटखोर दिन-रात अपने काम पर हैं। अलवर के किशनगढ़ बास से सिंथेटिक पनीर लेकर दो पिकअप जयपुर जा रही थी जिसे चंदवाजी थाना पुलिस ने पकड़ लिया है। पुलिस ने दो पिकअप सहित चार आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। केंद्रीय खाद्य एवं सुरक्षा विभाग के जांच दल ने मौके पर ही 2000 किलो सिंथेटिक पनीर को नष्ट करवा दिया है। आपको बता दें कि जयपुर ग्रामीण पुलिस का मिलावट खोरों के खिलाफ अभियान जारी है और इसके लिए क्राइम ब्रांच व पुलिस थाना चंदवाजी की टीम एक माह से आरोपियों की रेकी कर रही थी।

जयपुर ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने और मिलावटी खाद्य पदार्थों के धरपकड़ का जिले में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। शादी-विवाह के सीजन में अलवर से नकली पनीर भारी मात्रा में जयपुर शहर व आसपास के क्षेत्रों में सप्लाई होने की पुख्ता जानकारी प्राप्त हो रही थी। आमजन की सेहत को नुकसान पहुंचाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ज्ञान चंद्र यादव के निर्देशन में टीम का गठन किया गया। इस दौरान क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम ने अलवर के मेवात क्षेत्र से जयपुर शहर में कोमल पनीर उद्योग दादी का फाटक में बरसाना पनीर भंडार शास्त्री नगर में सप्लाई होने आए 2000 किलो सिंथेटिक पनीर की खेप को जप्त कर इस गोरखधंधे में लिप्त चार शातिर मिलावट खोरों शौकत पुत्र सगरमेव, शरीफ पुत्र इलियास, इमरान पुत्र शेर मोहम्मद, अब्दुल पुत्र सिरदार को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

आपको बता दें कि दीपावली से ठीक पहले भी फुलेरा थाना क्षेत्र में 20 हजार किलो सिंथेटिक मावे को जप्त कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था।… और चंदवाजी पुलिस ने भी कुछ दिन पूर्व ही दूध टैंकरों से दूध चोरी और मिलावट खोरी के गिरोह का पर्दाफाश किया था।

... तो सजग रहिए स्वस्थ रहिए क्योंकि पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने आमजन से अपील की है कि इस तरह के अपराधों पर नजर रखें और पुलिस को खबर करें ताकि मिलावट खोरी कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जा सके। सिंथेटिक खाद्य पदार्थों के उपयोग से लोगों में एसिडिटी, पेट में अल्सर, लीवर व किडनी पर घातक प्रभाव के साथ कैंसर जैसे असाध्य रोग हो जाते हैं।

लेकिन, इस सवाल का जवाब भी जरूरी है…
सिंथेटिक मावे से भरी यह दो पिकअप अगर नेशनल हाईवे से आई तो अलवर जिले के तीन थाने शाहजहांपुर, नीमराना बहरोड़ और इसके बाद जयपुर ग्रामीण के पनियाला, कोटपूतली प्रागपुरा, शाहपुरा व मनोहरपुर। कुल 8 थाने… और अगर ग्रामीण क्षेत्र से आती हैं तो अलवर के खैरथल, तिजारा, हरसोरा व बानसूर और जयपुर ग्रामीण के कोटपूतली, पनियाला, शाहपुरा और मनोहरपुर। … इतने थानों की पुलिस को चकमा देकर पिकअप चंदवाजी पहुंचती हैं क्यों और कैसे? … सोचिए अगर इनको चंदवाजी से पहले कहीं सप्लाई देनी होती तो…?

आग्रह- लगातार समाचार प्राप्त करने के लिए  Subscribe  करना ना भूलें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *