सोशल मीडिया ‘अपराधियों’ को बना रहा युवाओं का ‘आइडियल’

न्यूज़ चक्र, कोटपूतली। जी हां, सही पढ़ा आपने। सोशल मीडिया युवाओं की सोच में अपराध के बीज बो रहा है और हम, हमारा समाज और हमारी सरकारें अभी तक कुंभकरणी नींद में सोए हुए हैं। सोशल मीडिया फेसबुक और यूट्यूब पर अपराधियों को बहादुर बताते वीडियो और गानों का बेरोकटोक प्रसारण हो रहा है। जिनमें अपराधियों के हाथों में लग्जरी हथियार और गानों में अपराधियों के हौसले बुलंद करते बोल से ‘गायक’ युवाओं को अपराध की ओर मुड़ने को प्रेरित करते दिखाई दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर ऐसी वीडियो बनाते और वायरल करते नाही तो गायकारों को कोई डर है और ना ही ऐसे वीडियो प्रसारित करने वालों को, क्योंकि हमारा प्रशासन, हम और हमारा समाज, हमारी सरकारें अभी कुंभकरणी नींद में है। … आपकी कुंभकरणी नींद टूटे, इसलिए आपको बता दें कि इन वीडियो को देखने वाले युवाओं की तादाद लाखों में है। नादान युवा पीढ़ी वीडियो में गाने के जोशीले बोल देखकर उन्हें एक दूसरे से साझा कर रही है। युवाओं को इस बात का एहसास तक नहीं है कि ऐसे वीडियो से उनका माइंड वास हो रहा है, और वह इसके शिकार हो सकते हैं।

न्यूज़ चक्र आपसे, आप सबसे यह आग्रह करता है कि आप सब जो भी सोशल मीडिया यूजर्स हैं ऐसे वीडियो देखते ही उस पर अपनी आपत्ति दर्ज कराएं और सरकार से अपील करें कि ऐसे वीडियो को तुरंत प्रभाव से बंद करवाते हुए संबंधितों पर कार्रवाई करे। … और साथ ही हमारे इस आलेख को अपने सभी दोस्तों के साथ Share करें ताकि अधिक लोगों तक जानकारी पहुंचे और प्रभावी कार्यवाही हो सके। आप इस गफलत में कभी ना रहे कि हमारे बच्चे ‘समझदार’ हैं उन पर ऐसे वीडियो से कोई असर नहीं पड़ेगा।

यह भी पढ़ें…

अक्सर अपराध में लिप्त युवाओं को ऐसे वीडियो से संरक्षण मिलता है। … कई हरियाणवी गायकारों द्वारा हरियाणा के अपराधियों को अपने गानों में बहादुर और दबंग बताया जा रहा है, साथ ही अपराधियों को उन्हें उनके समाज से जोड़ते हुए पूरे समाज को बहादुरी और दबंगई का ‘एहसास’ करवाया जा रहा है। … ध्यान रहे यह बहादुरी और दबंगई का एहसास संबंधित समाज के लिए ‘दीमक’ का काम कर सकता हैं।… प्रतिदिन आपराधिक समाचारों में बढ़ती युवाओं की तादाद यह समझाने के लिए काफी है … कलम का लिखने का फर्ज था जो लिख दिया…बाकी आपकी मर्जी। (विकास’ वर्मा)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *