रैलियों ने बिगाड़ा गणित, अपनी तो जीत पक्की

न्यूज़ चक्र@ कोटपूतली। 6 अक्टूबर को चुनावी घोषणा के साथ ही तमाम दलों के महारथी मैदान में उतर गए थे। 5 दिसंबर को शाम 5 बजे चुनाव प्रचार थमने तक यह सियासी रण तमाम गतिविधियों का गवाह रहा। …और अब चुनाव से एक दिन पूर्व गणितज्ञ जातिगत जोड़ तोड़ के समीकरण बिठाने में लगे हैं। कोटपूतली विधानसभा क्षेत्र से कुल 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है, इस उम्मीद के साथ कि अपनी जीत पक्की है।

लेकिन चर्चा में केवल चार हैं।… और चारों ही आश्वस्त है कि अपनी तो जीत पक्की है। वैसे चार में से भी 2 नेताओं का गणित ‘रैलियों’ ने बिगाड़ दिया है।
शहर में चर्चा है कि काले कोट वाले नेताजी की रैली में तो बाहरी लोगों की भीड़ थी। वहीं लाल कोट वाले नेताजी स्थानीय लोगों की भीड़ जुटाने में तो कामयाब रहे लेकिन यह जंग जवानों की नहीं है। शहर के बाजारों में अपनी अपनी चर्चायें हैं।

कहा जा रहा है कि दबंग नेताजी को तो रैली के लिए भीड़ ही नहीं मिली, और पगड़ी वाले बाबा सारी भीड़ अपनी तरफ खींच ले गये। वो भी बड़ी शालीनता से।
खैर, आज का दिन शेष है, कल यानी 7 दिसंबर को जनता अपना जनादेश ईवीएम में दर्ज करा देगी। वैसे सभी प्रत्याशी जोर -शोर से अपने-अपने मतदाताओं को मनाने में लगे हैं। माना जा रहा है कि मुकाबला त्रिकोणीय होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *