नवल कुशालपुरा में क्रेशर बन्द करवाने को लेकर ग्रामीण लामबन्द, राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल को भेजा ज्ञापन

राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल को भेजा ज्ञापन
न्यूज चक्र। कोटपूतली। निकटवर्ती ग्राम पंचायत नारेहडा के ग्राम नवल कुशालपुरा स्थित मीणों की ढाणी वार्ड नम्बर 13 के ग्रामीणों ने ढाणी के पास में लगाये गये कुंज बिहारी स्टोन क्रेशर को बन्द करवाने की मांग को लेकर राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के सदस्य सचिव को ज्ञापन भेजा हैं।

ज्ञापन में राजेन्द्र, गिरधारी, सुरेश, सुशील, कैलाश, शिम्भू मीणा, मातादीन, मुकेश मीणा, विक्रम, नन्दराम, हरिराम, नरेश, राजू मीणा व रामनिवास मीणा समेत दर्जनों ग्रामीणों ने बताया है कि उक्त स्टोन क्रेशर मीणों की ढाणी बुरली के पास लगाया गया हैं। वर्तमान में उक्त ढाणी में करीब तीन सौ ग्रामीण निवास कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि क्रेशर संचालन के लिए राज्य सरकार से ना कोई अनुमति है एवं ना ही प्रदुषण विभाग से एनओसी ली गई है। क्रेशर मालिक द्वारा प्रशासन से मिली भगत करके अवैध रूप से क्रेशर चलाया जा रहा है। जिससे ग्रामीणों का जीना दुश्वार हो गया हैं। दिन व रात्रि के समय क्रेशर चलने से धुल उडने के कारण शांतिभंग हो रही है। रात्रि के समय में ग्रामीणों का सोना दुष्वार हो रहा हैं। वहीं दिन के समय में धुल उडने से प्रदूषण जनित बीमारियां पनप रही है। साथ ही आसपास कुछ भी दिखाई देना असम्भव हो गया हैं। तेज आवाज से ध्वनि प्रदूषण के कारण परीक्षा के समय में बालकों को काफी परेशानी हो रही है। वहीं जमीन के बंजर हो जाने से ग्रामीणों का जीवन यापन करना भी मुश्किल हो गया है।

धुल इतनी ज्यादा उडती है कि ग्रामीणों का भोजन करना भी दुश्वार हो चला है। उक्त समस्या से ग्रामीण श्वांस की गंभीर बीमारियों से पीडित हो रहे है। ज्ञापन में क्रेशर को अविलम्ब बन्द करवाने की मांग की गई है।

समाचार- संजय जोशी, नारेहड़ा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *