कांस्टेबल की हत्या से पुलिस ने उठाया पर्दा, जानकार साथी निकला हत्यारा

न्यूज़ चक्र। कोटपूतली। 4 दिन पहले समूचे कोटपूतली क्षेत्र को झकझोर कर रख देने वाले कोटपुतली थाने के एक कांस्टेबल के मर्डर की गुत्थी को कोटपूतली पुलिस ने सुलझा लिया है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटपूतली थाना पुलिस ने 4 दिन पहले चतुर्भुज चौकी के कांस्टेबल ख्यालीराम यादव की हत्या की गुत्थी को सुलझाते हुए आज हत्या का पर्दाफाश किया।

कांस्टेबल ख्यालीराम 8 तारीख की सुबह चतुर्भुज चौकी से पावटा के लिए निकला था लेकिन रात 8:00 बजे तक भी वह वापस नहीं लौटा, और अगली सुबह उसकी डेड बॉडी गांव पवाना अहिर के समीप एक खेत में रस्सियों से बंधी हुई मिली थी। पुलिसिया तहकीकात में सामने आया कि 8 मार्च को कांस्टेबल को उसके एक जानकार साथी गिरिराज के साथ पावटा प्रागपुरा क्षेत्र में देखा गया था। पुलिस ने अपने अनुसंधान के दौरान गिरिराज से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

कोटपूतली पुलिस ने बताया कि कांस्टेबल ख्यालीराम उसके हत्यारे साथी गिर्राज के 8 लाख रुपए मांगता था। गिरीराज ने रुपए ना देने की नियत से लालच में आकर मौका देख कर ख्यालीराम को पावटा बुलाया और उसकी लस्सी में नींद की गोलियां डालकर उसे बेसुध कर दिया और बाद में गला व मुंह दबाकर उसकी हत्या कर दी।

पुलिस ने बताया कि कांस्टेबल की लाश को आरोपी ने पवाना अहिर के समीप पटक दिया और उसके बदन से उतारी वर्दी को कंवरपुरा व गोवर्धनपुरा चौकी पुलिया के बीच एक नाली मैं छुपा दिया। पुलिस ने आरोपी गिर्राज की निशानदेही पर मृतक कांस्टेबल ख्यालीराम की वर्दी को बरामद कर लिया है। पुलिस ने अपने प्रेस नोट में बताया कि इस प्रकरण में अन्य बिंदुओं को ध्यान में रखकर अभी अनुसंधान जारी है। फिलहाल आरोपी गिरीराज शर्मा निवासी प्रागपुरा को गिरफ्तार कर लिया गया है।

रिपोर्ट – पत्रकार लक्ष्मीनारायण कुमावत, पावटा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *